सचिन तेंडुलकर के नाम का गलत इस्तेमाल हो रहा है: लालचंद राजपूत का आरोप

गौरव गुप्ता, मुंबई
क्रिकेट इम्प्रूवमेंट कमिटी (CIC) के चेयरमैन लालचंद राजपूत (Lalchand Rajput) ने शुक्रवार को मुंबई क्रिकेट असोसिएशन (MCA) के अध्यक्ष विजय पाटील (MCA President Vijay Patil) से शिकायत की है। राजपूत ने कहा कि ‘कुछ खास लोग’ महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर (Sachin Tendulkar) के नाम का गलत इस्तेमाल कर उनकी कमिटी को मुंबई के सिलेक्टर और कोचों के नाम की सिफारिश कर रहे हैं।

राजपूत और सीआईसी में उनके साथी राजू कुलकर्णी और समीर दीघे ने मुंबई के कई आयु-वर्ग के टीमों के लिए 24 कोचों का इंटरव्यू किया। यह इंटरव्यू बुधवार और गुरुवार को बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (BKC) पर किया गया। संभावित सिलेक्टर्स के इंटरव्यू शनिवार को किए जाने हैं। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के पास उस लेटर की कॉपी है जो राजपूत ने पाटील को लिखा है। इसमें लिखा है, ‘हम सचिन तेंडुलकर का सम्मान करते हैं, लेकिन उनका नाम कहीं भी इस्तेमाल कर हम पर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है। कहा जा रहा है कि उन्होंने X, Y और Z के नाम की सिफारिश की है। अगर सचिन को कोई सुझाव देना है तो वह अध्यक्ष या सीआईआई से सीधा बात कर सकते हैं चूंकि हम सब उन्हें अच्छी तरह जानते हैं। तेंडुलकर एक आइकॉन हैं और हम उनका सम्मान करते हैं। मुझे पक्का विश्वास है कि अगर उनके पास कोई भी सुझाव है तो उन्हें उसे हमारे सामने रखने का पूरा अधिकार है।’

राजपूत ने आरोप लगाया कि एपेक्स काउंसिल मेम्बर अमित दानी (Amit Dani) ने उन पर इस जॉब के लिए कुछ खास उम्मीदवारों के चयन का दबाव बनाया। राजपूत ने कहा, ‘मैं सुझावों का हमेशा स्वागत करता हूं लेकिन दानी मुझे किसी खास को शामिल करने के लिए नहीं कह सकते। मुझे यह पसंद नहीं आया। अगर किसी को नाम जानने हैं तो वे मेरे पास हैं लेकिन उनका खुलासा मैं यहां नहीं करूंगा। अब मैं समझ सकता हूं कि मुंबई क्रिकेट क्यों नीचे जा रहा है। एपेक्स काउंसिल मेम्बर होने के नाते वे दबाव बनाकर अपना काम कर सकते हैं। CIC के तौर पर हम यह काम नहीं होने देंगे, और इसी वजह से AGM ने हमें स्वतंत्र समिति के तौर पर काम करने का अधिकार दिया है।’

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज राजपूत ने कहा, ‘इंटरव्य के लिए कोचों के नाम को शॉर्टलिस्ट करने से पहले, हमने MCA के साथ यह रूपरेखा तैयार की साझा थी कि आखिर किसे इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। सिलेक्टर्स के लिए भी ऐसा किया गया था और उसे प्रेजिडेंट की अनुमति के लिए भेजा गया था।’

दानी ने हालांकि राजपूत के दावों को खारिज किया। उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी उम्मीदवारों के नाम की अनुशंसा के लिए तेंडुलकर का नाम इस्तेमाल नहीं किया। मैं ऐसा क्यों करूंगा? मैं कभी उनका नाम गलत संदर्भ में नहीं लूंगा। अगर सचिन कुछ कहना चाहेंगे वह सीधा MCA से कह सकते हैं। उन्हें मेरी जरूरत नहीं है। मेरे और CIC के बीच गलतफहमी हुई है। मैं उनसे बात करके इसे साफ करने को तैयार हूं।’

.

Source link