“वह 9 साल की थी जब उसने आतंकी अजमल कसाब को पहचाना था”, विधायक ने उद्धव ठाकरे से की यह अपील

कांग्रेस विधायक ने बांद्रा में देविका के घर जाकर उन्हें चेक सौंपा.

मुंबई: 26/11 Mumbai Attack :  मुंबई में 26/11 हमले में गोली लगने के बाद कोर्ट में अजमल कसाब को पहचाने वाली देविका रोटावन (Devika Rotawan) की उस वक्त 9 साल थी, आज देविका आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रही है और उन्हें तुरंत मदद की जरूरत है. मुंबई से कांग्रेस के विधायक जीशान सिद्दीकी ने सोमवार को ये जानकारी दी. अब 20 साल की हो चुकी देविका के बांद्रा स्थित पहुंचे विधायक ने कहा कि वह उनकी कहान से काफी प्रेरित हुए हैं और राज्य सरकार से उन्हें उनकी बहादुरी के लिए पुरस्कृत करने का आग्रह करेंगे.

सिद्दीकी ने बताया कि जब उन्होंने देविका के आर्थिक संघर्षों के बारे में सुना तो एक चेक लेकर वो देविका घर गए थे, उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से एक विशेष कोटा के तहत शहर में एक युवती और उसके परिवार को घर आवंटित करने के लिए भी कहा है.

यह भी पढ़ें- 26/11 मुंबई हमला: वकील ने कहा, तहव्वुर राणा का प्रत्यर्पण हो सकता है, हेडली का नहीं…

कांग्रेस विधायक जीशान सिद्दीकी ने ट्वीट कर लिखा, ‘देविका रोटावन मिला, 26/11 हमले के बाद अदालत में आतंकवादी कसाब को पहचाने वाली ये बहादुर लड़की उस वक्त 9 साल की थी. उसने मुझे अपनी गोली का घाव दिखाया और मैंने उसकी प्रेरणादायक कहानी सुनी. जब मुझे उसके आर्थिक हालात के बारे में पता चला तो उसे चेक देने के लिए बांद्रा ईस्ट स्थित उसके घर गया.’ 

अपने एक और ट्वीट में जीशान ने लिखा, ‘मैं माननीय मुख्यमंत्री से आग्रह करता हूं कि इस बहादुर लड़की देविका को विशेष कोटा के तहत मुंबई में एक घर दिया जाए. मैं इसके लिए एक पत्र लिखूंगा. हमें उसकी बहादुरी के लिए उसे पुरस्कार देना चाहिए. ये महा विकास अघाड़ी सरकार की तरफ से सराहना का एक बेहतरीन कदम होगा.’

मुंबई के ताज होटल को मिली 26/11 जैसे हमले की धमकी

Source link