म्यूचुअल फंड उद्योग के एयूएम में छोटे शहरों का हिस्सा 16 प्रतिशत, महाराष्ट्र की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा

Photo:GOOGLE MF AUM में छोटे शहरों का हिस्सा बढ़ा

नई दिल्ली। म्यूचुअल फंड उद्योग की औसत प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां (Asset Under Management) अक्टूबर के मध्य तक 28 लाख करोड़ रुपये से कुछ अधिक रहीं। इनमें छोटे शहरों यानी बी30 शहरों का हिस्सा 16 प्रतिशत रहा। राज्यों के हिसाब से देखें तो सर्वाधिक हिस्सेदारी महाराष्ट्र की रही। म्यूचुअल फंड उद्योग के संगठन एएमएफआई ने इसकी जानकारी दी। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) पिछले कई साल से म्यूचुअल फंड कंपनियों के ऊपर दबाव बना रहा है कि वे संपत्ति आधार बढ़ाने के लिये छोटे शहरों पर ध्यान दें। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया (एएमएफआई) ने कहा कि इस साल अक्टूबर तक म्यूचुअल फंड उद्योग की कुल एयूएम में बी30 शहरों की हिस्सेदारी 16 प्रतिशत रही। शेष हिस्सेदारी टी30 यानी शीर्ष 30 शहरों की रही। आंकड़ों के अनुसार, बी30 शहरों की संपत्तियां सितंबर अंत में 4.47 लाख करोड़ रुपये थीं। यह अक्टूबर अंत तक तीन प्रतिशत बढ़कर 4.61 लाख करोड़ रुपये हो गयीं।

माईवेल्थग्रोथ डॉट कॉम के हर्षद चेतनवाला ने कहा, ‘‘बी30 शहरों से निवेश में लगातार वृद्धि हुई है। व्यक्तिगत निवेशकों की कुल इक्विटी संपत्तियों में इनकी हिस्सेदारी करीब 27 प्रतिशत है और इसमें लगातार अच्छी वृद्धि हो रही है।’’ हाल में ही आई रिपोर्ट के मुताबिक म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री ने अक्टूबर महीने में 4.11 लाख फोलियो जोड़े हैं। इसके साथ ही इंडस्ट्री में कुल फोलियो की संख्या 9.34 करोड़ के पार पहुंच गई है। निवेशकों ने पिछले महीने विभिन्न म्यूचुअल फंड योजनाओं में 98576 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

!function (f, b, e, v, n, t, s) {
if (f.fbq)
return;
n = f.fbq = function () {
n.callMethod ? n.callMethod.apply(n, arguments) : n.queue.push(arguments);
};
if (!f._fbq)
f._fbq = n;
n.push = n;
n.loaded = !0;
n.version = ‘2.0’;
n.queue = [];
t = b.createElement(e);
t.async = !0;
t.src = v;
s = b.getElementsByTagName(e)[0];
s.parentNode.insertBefore(t, s);
}(window, document, ‘script’, ‘//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1684841475119151’);
fbq(‘track’, “PageView”);

Source link