बंदरों पर परीक्षण के बाद बोले Covaxin वैक्सीन के निर्माता – इम्यून की प्रतिक्रियाएं मजबूत दिखीं…

जानवरों पर किए गए प्रयोग के नतीजे जारी किए गए हैं.

नई दिल्ली: भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने अपनी नवीनतम रिपोर्ट में कहा है कि वह जो कोरोनावायरस वैक्सीन (COVAXIN) विकसित कर रहा है, उसके पशुओं पर किए गए अध्ययन में पता चला है कि टीके की मदद से एक बंदर को एक अत्यधिक संक्रामक कोरोनावायरस से प्रतिरक्षा विकसित करने में मदद मिली है. इस प्रकार, सार्स-कोव -2 वायरस को जीवित रहने की अधिक मात्रा में प्राइमेट में संक्रमण और बीमारी को रोकने में मदद मिली है .

भारत बायोटेक ने अपनी वेबसाइट पर पोस्ट किया, “टीका लगाने के बाद, मजबूत प्रतिरक्षा विकसित होती पाई गई.ये नतीजे लाइव वायरल चैलेंज मॉडल के अंतर्गत पाए गए. कंपनी ने ट्वीट किया, “ये परिणाम लाइव वायरल चैलेंज मॉडल में सुरक्षात्मक प्रभावकारिता यानि प्रोटेक्टिव एफिशियेंसी को प्रदर्शित करते हैं,”

ऐसा बताया गया है कि 20 बंदरों के four समूहों में विभाजित किया गया. एक समूह को प्लेसबो के साथ प्रशासित किया गया था जबकि  तीन समूह 0-14 दिन तक three अलग-अलग वैक्सीन दी गई.

विशेषज्ञों द्वारा दी गई वैक्सीन के 7 दिन बाद बंदरों के नाक, गले, फेफड़ों और फेफड़ों के पास की जगह में वायरस दूर होने के संकेत मिले.

Source link