प्रश्नकाल खत्म किए जाने का विरोध कर रहे विपक्ष को सरकार का जवाब- ‘हम भाग नहीं रहे’

सरकार चर्चा से भाग नहीं रही है : प्रहलाद जोशी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • प्रश्नकाल रद्द किए जाने को लेकर विपक्ष कर रहा विरोध
  • सरकार ने कहा- हम चर्चा से भाग नहीं रहे हैं
  • राजनाथ सिंह ने दी शून्यकाल में प्रश्न पूछने की सलाह

नई दिल्ली: कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ एहतियाती बरतते हुए संसद का मानसून सत्र (Monsoon session) आज से शुरू हो गया. संसद का सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के साथ सीमा पर तनाव को लेकर कड़ा संदेश दिया. पीएम मोदी ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि सदन के सभी सदस्य एक भाव से, एक संकल्प से ये सन्देश देंगे कि पूरा देश सेना के जवानों के साथ खड़ा है.” प्रश्नकाल नहीं होने का प्रस्ताव आज सुबह पारित हुआ. प्रश्नकाल खत्म किए जाने को लेकर उठ रहे सवालों के बीच संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने लोकसभा में कहा कि सरकार चर्चा से भाग नहीं रही है. 

संसदीय कार्य मंत्री जोशी ने कहा, “यह एक असाधारण स्थिति है. जब विधानसभाएं एक दिन के लिए भी बैठक करने को तैयार नहीं हैं, हम करीब 800-850 सांसदों के साथ बैठक कर रहे हैं. सरकार से सवाल करने के कई तरीके हैं, सरकार चर्चा से भाग नहीं रही है. वहीं, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सुझाव दिया है कि शून्यकाल में सरकार से सवाल किया जा सकता है. 

लोकसभा में कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा, “प्रश्नकाल एक स्वर्णिंम समय है लेकिन आप (सरकार) कह रहे हं कि कोरोनावायरस की वजह से प्रश्नकाल आयोजित नहीं किया जा सकता है. आप संसद की कार्यवाही संचालित करते हैं लेकिन सिर्फ प्रश्नकाल को खत्म कर रहे हैं. आप लोकतंत्र का गला घोंटने की कोशिश कर रहे हैं.” 

वीडियो: प्रश्नकाल हटाने को लेकर विपक्ष ने उठाए सवाल

Source link