असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई की सेहत बिगड़ी, वेंटिलेंटर पर रखे गए

गोगोई को कोरोना वायरस से स्वस्थ होने के बाद 25 अक्टूबर को अस्पताल से छुट्टी दी गई थी

गुवाहाटी: असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के कई अंगों के काम नहीं करने की वजह से उनकी सेहत बिगड़ गई है और सांस लेने में दिक्कत होने के साथ बेहोश हो गये हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने शनिवार को यह जानकारी दी. मंत्री ने बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गोगोई (86) को बेचैनी की शिकायत के बाद गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (जीएमसीएच) में दो नवम्बर को भर्ती कराया गया था. 

यह भी पढ़ें

Newsbeep

गोगोई के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने के लिए जीएमसीएच अस्पताल पहुंचे सरमा ने कहा, ‘‘आज दोपहर के करीब सांस लेने में दिक्कत के कारण उनकी हालत बिगड़ी. इसलिए, डॉक्टरों ने एक इंट्यूबेशन वेंटिलेटर शुरू किया, जो मशीन वेंटिलेशन है.”उन्होंने कहा कि गोगोई ‘‘पूरी तरह से बेसुध हैं” और उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया है.  उन्होंने कहा, ‘‘दवाओं और अन्य साधनों से उनके अंगों को ठीक करने का प्रयास जारी है. डॉक्टर डायलिसिस का भी प्रयास करेंगे. हालांकि, अगले 48-72 घंटे बहुत महत्वपूर्ण हैं और हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं.” 

सरमा ने कहा कि दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के विशेषज्ञों के साथ जीएमसीएच के डॉक्टर लगातार संपर्क में हैं और उन्होंने गोगोई को इस हालत में राज्य के बाहर ले जाने की किसी भी संभावना से इनकार किया है. तीन बार मुख्यमंत्री रहे गोगोई को कोरोना वायरस से स्वस्थ होने के बाद 25 अक्टूबर को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. गोगोई 25 अगस्त को कोविड-19 से संक्रमित पाये गये थे और अगले दिन उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वह दो महीने तक अस्पताल में रहे थे. 

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link